पटना से नई दिल्ली का ट्रेन सफर होगा अब और आरामदायक, …जानिए

बिहार. पटना से नई दिल्ली का सफर अब और आरामदायक होगा। पहले से और सुविधाओं वाला होगा। पैसेंजर्स को पूरी तरह से सफर का एक नया अनुभव मिलेगा। दरअसल, पूर्व मध्य रेलवे ने राजेंद्र नगर से नई दिल्ली के बीच चलने वाली 02309/02310 राजधानी स्पेशल की रैक को अपग्रेड कर दिया है। अब यह ट्रेन 1 सितंबर से तेजस रैक के साथ चलेगी। ट्रेन के मौजूदा एलएचबी रैक को अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त तेजस रैक में बदला गया है।

जानिए नए रैक की खासियत
यह तेजस रेक ऑटोमेटिक प्लग इनडोर प्रणाली से युक्त है। इसके सभी प्रवेश द्वार केंद्रीकृत रूप से नियंत्रित होंगे और जब तक सभी कोच के गेट बंद नहीं होंगे तब तक ट्रेन नहीं चलेगी। सीसीटीवी कैमरा युक्त इस तेजस रेक के हर कोच में यात्रा संबंधी सूचनाएं जैसे अगला स्टेशन, शेष दूरी, आगमन/प्रस्थान का समय, विलंब और सुरक्षा संबंधी संदेश देने के लिए 2 एलसीडी डिस्प्ले लगाए गए हैं। आकर्षक आंतरिक बनावट करते हुए ऐसा बर्थ का प्रावधान किया गया है जिससे यात्रियों को आरामदायक यात्रा का अनुभव प्राप्त हो।

सभी कोचों में पर्दे की जगह रोलर ब्लाइंड लगाए गए हैं जो साफ-सफाई को आसान बनाते हैं। प्रत्येक कंपार्टमेंट में डस्टबीन भी मौजूद रहेंगे। सभी कोचों में बायो-वैक्यूम टॉयलेट लगाए गए हैं जो अच्छी फ्लशिंग के चलते बेहतर साफ-सफाई बनाए रखने में मददगार होते हैं। साथ ही पानी की भी बचत होती है। शौचालय दुर्गंध नियंत्रण प्रणाली से युक्त हैं। छोटे बच्चे के साथ सफर कर रही महिला यात्रियों की सुविधा के लिए शौचालय में इंफेंट केयर सीट भी दी गई है।

READ:  बिहार के इस एयरपोर्ट से उड़ान की जगी उम्मीद, ...जानिए

बिल्कुल अलग होगी साइड लोअर बर्थ
ऐसी टू टियर और थ्री टियर के कोचों में साईड लोअर बर्थ की बनावट में बदलाव लाते हुए उसे सिंगल पीस बेड का रूप दिया गया है। साथ ही ऊपर की बर्थ पर जाने के लिए सुविधाजनक व्यवस्था की गई है। सभी के लिए मोबाइल चार्जिंग पॉइंट दिया गया है। इन कोचों को आरामदायक बनाने और बेहतर यात्रा अनुभव के लिए बोगियों में एयर स्प्रिंग सस्पेंशन दिया गया है।

आग लगने पर लग जाएगा ऑटोमेटिक ब्रेक
इस नए रैक की एक और खासियत होगी। ट्रेन के सभी कोचों में ऑटोमेटिक फायर अलॉर्म और डिटेक्शन सिस्टम लगाए गए हैं। व्यवस्था ऐसी की गई है कि आग लगने की स्थिति में ऑटोमेटिक ब्रेक लग जाएगा। इसी तरह संरक्षा में और सुधार के लिए नए वायरिंग के साथ व्हील स्लाइड प्रोटेक्शन डिवाइस लगाए गए हैं।

इन सुविधाओं के लिए अतिरिक्त किराया नहीं लगेगा। वर्तमान में अभी इसकी गति 130 किमी प्रति घंटा होगी।लेकिन, राजधानी में तेजस रेक लगने से आनेवाले दिनों में ट्रैक के अपग्रेड होने पर इसकी गति 160 किमी प्रति घंटा होगी। इससे पटना से नई दिल्ली जाने में कम समय लगने की संभावना है। इन तमाम बदलाव से पटना की नई दिल्ली से और भी बेहतर कनेक्टिविटी हो जाएगी।