बिहार में छत पर सब्जी की खेती करने के लिए सरकार देगी सब्सिडी, …जानिए

कृषि विभाग के उद्यान निदेशालय शहरी क्षेत्र के लोगों के लिए छत पर बागवानी योजना चला रहा है। जमीन खाली नहीं होने की वजह से सब्जी की खेती नहीं कर पा रहे लोगों के लिए यह अच्छी योजना है। शहर में हरित क्षेत्र बढ़ाने व वातावरण को शुद्ध करने के उद्देश्य से घर की छत पर बागवानी की योजना बनायी गयी है। इसमें लोग अब घर की छत पर सब्जी का उत्पादन कर सकते हैं। छत पर 300 स्क्वायर फुट की एक यूनिट होगा। छत पर 300 स्क्वायर फुट खुले स्थान पर बागवानी की जायेगी।

एक यूनिट की लागत 50 हजार रुपये होगी। इसके लिए विभाग की ओर से लाभुक को 50 प्रतिशत अनुदान दिया जायेगा। किसान को 25 हजार रुपये खुद लगाना होगा। योजना का लाभ लेने के लिए किसान को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। आवेदन में गृहस्वामी को बिजली बिल, बैंक खाता, जियो टैगिंग फोटो आदि देना होगा। इसके बाद उन्हें आवेदन के दौरान ही 25 हजार रुपये जमा करना होगा।

इसके बाद कार्ययोजना की अनुमति मिलेगी। विभाग 25 हजार रुपये का अनुदान देगा। योजना के लिए चयन होने के बाद किसान को पोर्टेबल फार्मिंग सिस्टम, ऑर्गैनिक किट, फ्रूट बैक, प्लास्टिक पॉट, खुरपी, हेंड स्पेयर, शेप्लिंग ट्रे (100 सब्जी के पौधे), ड्रीप सिस्टम व फल के पौधे शामिल हैं।

मुजफ्फरपुर जिले को 220 यूनिट का मिला है लक्ष्य
छत पर बागवानी योजना के तहत जिले को विभाग की ओर से 220 यूनिट का लक्ष्य दिया गया है। इस वित्तीय वर्ष में अबतक 86 आवेदन आ चुके हैं। सभी का सत्यापन किया जा रहा है। वहीं, वित्तीय वर्ष 2020-21 में योजना के लिए 14 लाभुकों को चयनित किया गया है। इसमें शहरी क्षेत्र के अलावा मुशहरी व कांटी के लाभुक शामिल हैं। मुजफ्फरपुर में लिविंग ग्रीन इंडिया कंपनी को छत पर बागवानी योजना का जिम्मा सौंपा गया है।

READ:  कोरोना संक्रमण की रफ्तार थमने के बाद पूरी तरह से अनलॉक हुआ बिहार, ...जानिए